Best Viewed in Mozilla Firefox, Google Chrome

बिहार में खेती के लिए सिफारिश की गई उपयुक्त प्रजातियाँ

PrintPrintSend to friendSend to friend

बिहार में खेती के लिए सिफारिश की गई उपयुक्त प्रजातियाँ

(ए) खरीफ मौसम के लिए

  • ऊँचि भूमि / वर्षा पूरित दशा: पूसा 2-21; टुरान्टा (केवल 75 दिनों की फसल); प्रभात (केवल 90 दिनों की फसल); सी.आर. 44-35 (साकेत-4) ; सरोज ; बिरसा धान 105; बिरसा धान 201; बिरसा धन 202; धनलक्ष्मी; कंचन; कलिंगा-III;रिचारिया; आदित्य; तुलसी; वंदना।
  •  मध्यम भूमि: बी.आर.34; आइ.आर 36; सी.आर 1002; राजेंद्र धान 201; सीता; कनक; मंसूरी; सुजाता; जय श्री; राज श्री; पंकज; स्वर्ण; जानकी; राधा; सावित्री; सलिवाहना, एमटीयू- 7029, सोनम, बीपीटी-5204, बीपीटी-1001, नाता महसूरी, हीरा, सत्यम, पंजाब परिमल।
  • निचली भूमि: बी.आर.8; सी.आर.1002; सत्यम; किशोरी; राज श्री; पंकज; स्वर्णधान; मंसूरी; श्यामला; क्रांति; सुरेखा; वैदेही; राधा शकुंतला; संतोष; महामाया;टी 141।
  • गहरा पानी: जानकी; वैदेही; सुधा; जलधी-I; जलधी-II; जलमग्न।

(बी) शीतकालीन मौसम के लिए: गौतम; धनलक्ष्मी; रिचारिया; सरोज।

(सी) ग्रीष्मकालीन मौसम के लिए: गौतम; पूसा-33; पूसा-2-21; सी.आर.44-35(साकेत-4) ; प्रभात (केवल 90 दिनों की फसल); टुरान्टा (केवल 75 दिनों की फसल)।

(डी) सुगंधित धान: सुगन्धा; बी.आर.-9; कामिनी; कतरनी; बासमती 370।

(ई) हाइब्रिड धान: पीए 6201, हाइब्रिड-6204।

File Courtesy: 
DRD, Patna
Copy rights | Disclaimer | RKMP Policies