Best Viewed in Mozilla Firefox, Google Chrome

ब्राउन स्पॉट

PrintPrintSend to friendSend to friend

कारणात्मक जीव : हेल्मिन्थोस्पोरियम ओराइज़े                      

लक्षण

1. पत्तियों पर कई गहरे भूरे अण्डाकार धब्बे, अंकुर के कोलियोप्टाइल्स को संक्रमित करते हैं एवं पाला का कारण बनते हैं; संक्रमित गूदा मुरझा जाता है।

प्रबंधन

1. बीजारोपण से पूर्व कारबॅन्डाज़िम(2.5ग्रा./कि.ग्रा) के साथ बीज उपचार। 

2. मैन्कोज़ॅब (0.25%) या ऐड़िनोफॉस 0.1% के प्रकार के फफूंदनाशियों से उपचार।

3. खड़ी फसल में 3-4 बार 12-15 दिनों के अंतराल में हिनोसेन 0.1% या 0.3% पर ब्लिटोक्स 50 का छिड़काव करें।

4. इंदिरा सुगन्धित धान-1 के प्रकार की प्रतिरोधी किस्मों का उपयोग करें।

5. भूमि को उचित रूप से समतल रखें एवं संतुलित उर्वरक मिट्टी का उपयोग करें।

 

 

Copy rights | Disclaimer | RKMP Policies