Best Viewed in Mozilla Firefox, Google Chrome

Rice ear cutting caterpillar राइस ईयर कटिंग कैटरपिलर

PrintPrintSend to friendSend to friend

1. राइस ईयर कटिंग कैटरपिलर (Mythimna separata) का 1982 में असम में भारी प्रकोप हुआ था और फिर यह मणिपुर, अरुणाचलप्रदेश, मेघालय और त्रिपुरा में फैला।

2. इस क्षेत्र में यह चावल के फसल में लगने वाला एक महत्वपूर्ण कीट है। इसके प्रकोप से खड़ी फसल शत-प्रतिशत नष्ट हो सकती है। 

3. लार्वा धान की बाली के शीर्ष को काट कर उसे पौधे के तने के पीछे डाल देता है जो देखने में ऐसा लगता है मानो किसी जानवर द्वारा चर लिया गया हो। यह सीधे फसल की उपज को प्रभावित करता है।

 

 

 

File Courtesy: 
ICAR NEH,उमियम
Copy rights | Disclaimer | RKMP Policies