Best Viewed in Mozilla Firefox, Google Chrome

बैक्ट्रियल लीफ स्ट्रीक

PrintPrintSend to friendSend to friend

1. यह एक बैक्ट्रियल फोलियर रोग है। यह रोग 1-10 सेमी लंबी जल

से फूला हुआ और पारभाषी इंटरवेनियल धारियों के रूप में सबसे पहले पत्तों से आरंभ होता है। ये शिराओं के समांतर फैलते हैं और पीले-भूरे रंग में बदल जाते हैं जो आगे एक होकर बड़े जख्म के धब्बे बन जाते हैं और पत्तों के संपूर्ण सतह पर फैल जाते हैं। 

यह रोग Xanthomonas campestris pv. Oryzicola नामक सूक्ष्मजीवी के कारण होता है। 

बैक्ट्रियम छड़ की आकृति का होता है, 1.0-2.5 x 0.5-0.8 के आकार में पाया जाता है और एकल ध्रुवीय कशाभ द्वारा मोटाइल होता है।  

 

इस रोग को जड़ से उखाड़ फेंकने के लिए निम्नलिखित उपाय अपनाए जा सकते हैं: 

1. ये रोग बीज जनित होते हैं इसलिए बीजों की खरीदी आधिकारिक स्रोत से ही करें।  

2.0.025% Streptocycline में बीजों को भिगोएं और 52° सेल्सियस पर 30 मिनट तक गर्म जल से उपचार करें। 

3. प्रतिरोधी प्रजातियों के खेती करें।  

 

File Courtesy: 
ICAR NEH, Umiam
Image Courtesy: 
http://www.scienceफ़ोटो:library.com/images/download_lo_res.html?id=670017710
Copy rights | Disclaimer | RKMP Policies