Best Viewed in Mozilla Firefox, Google Chrome

अनाजों पर धब्बे

PrintPrintSend to friendSend to friend

1. चावल के दानों पर धब्बा, ऊंची भूमि और नीची भूमि दोनों की कुछ प्रजातियों में एक प्रमुख समस्या है। यह अंकुरण को कम करता है, जिससे बिचड़ों का क्षय होता है, तुषमय अनाज होते हैं और अनाज अखाद्य हो जाते हैं।  

2. खराबी एक दानें तक भी सीमित रह सकती है, लेकिन गंभीर मामलों में लगभग संपूर्ण पुष्प-गुच्छ के साथ-साथ प्राक्ष भी बदरंग हो जाते हैं। 

3.Drechslera oryzae, Fusarium sp., Nigrospora oryzae, Penicillium sp., Curvularia sp., Sarocladium oryzae और Rhizophus sp. बदरंग अनाजों से संबंधित हैं। नाइट्रोजान के अत्यधिक इस्तेमाल से अनाज के बदरंग होने की संभावना बढ़ जाती है।  

निम्नलिखित उपायों द्वारा अनाजों को बदरंग होने से रोका जा सकता है:- 

 पुष्प-गुच्छ निकलने के समय 0.1 % Carbendism का छिड़काव,  

 साफ-सुथरी जुताई,

 प्रतिरोधी प्रजातियों की खेती।

                     

 

 

File Courtesy: 
ICAR NEH, Umiam
Copy rights | Disclaimer | RKMP Policies