Best Viewed in Mozilla Firefox, Google Chrome

B की कमी का प्रबंधन

PrintPrintSend to friendSend to friend

1. 10 से 15 kg ha-1 बोरेट उर्वरक (Na2 B4 O75 H20) 14% B के साथ मिट्टी में डालना चाहिए, जिससे मोटी संरचना वाली मिट्टी में रोपण के समय आधारी प्रयोग के रूप में लगभग 1.5 –2.0 kg B /ha की आपूर्ति होती है। 

2. बोरेक्स को अमोनियम उर्वरकों के साथ मिश्रित नहीं करना चाहिए, जिससे  NH3 का वोलाटाइजेशन पैदा होता है। 

3. बोरोसिलिकेट ग्लास फ्रिट्स का भी इस्तेमाल करना चाहिए। 

4. 0.1-0.25% बोरिक अम्ल / सोडियम बोरेट के फॉलियर स्प्रे का भी इस्तेमाल करना चाहिए। 

5. चावल-गेहूं प्रणाली में गेहूं के लिए Mn का अनुप्रयोग किया जाता है,  ताकि जलमग्नता के बाद उपलब्धता के बढ़ने से चावल की अगली फसल को इससे लाभ पहुंच सके। 

 

File Courtesy: 
DRR टेक्निकल बुलेटिन नं. 11, 2004-2005, एम. नारायण रेड्डी, आर. महेन्दर कुमार तथा बी. मिश्रा, चावल आधारित फ़सल प्रणाली हेतु स्थल-विशिष्ट समेकित पोषण प्रबंधन
Copy rights | Disclaimer | RKMP Policies