Best Viewed in Mozilla Firefox, Google Chrome

प्लांट होपर की जैव-पारिस्थितिकी

PrintPrintSend to friendSend to friend

1. इन होपरों के विकास में तापमान निर्णायक भूमिका निभाता है। भ्रूणीय और पश्च-भ्रूणीय विकास के लिए थ्रेशोल्ड तापमान क्रमश: 10.8oC और 9.8oC है।  

2. ऊष्ण और आर्द्र जलवायु में प्लांट होपर्स सक्रिय रहते हैं और उनकी संख्या भोजन की उपलब्धता, प्राकृतिक शत्रुओं की गतिविधि आसपास हो रहे अन्य पर्यावरणीय कारकों के आधार पर घटते-बढ़ते रहते हैं।   

3. लार्वा के चरण में क्राउडिंग और कीट खाद्य की गुणवत्ता तथा मात्रा में कमी  मैक्रोप्टेरी       (macroptery) को प्रेरित करता है।  

पारासिटॉइड (Parasitoids):  

•अनाग्रस स्पिशिस Anagrus spp,             

•ओलिगोसीटा स्पिशिस Oligosita spp. 

•गोनक्टोसिरस स्पिशिस Gonatocerus spp       

•गोनाटोपस स्पिशिस Gonatopus spp.

परभक्षी : सिर्तोरैनस लिविडीपेन्निस Cyrtorhinus lividipennis

 

File Courtesy: 
IPM –NCIPM निबन्ध
Copy rights | Disclaimer | RKMP Policies