Best Viewed in Mozilla Firefox, Google Chrome

फ्रंट ह्वील ड्राइव असिस्ट

PrintPrintSend to friendSend to friend

1. फ्रंट ह्वील असिस्ट ट्रैक्टर के लीड की जांच। फ्रंट ह्वील असिस्ट ट्रैक्टर के अगले टायरों को पिछले टायरों की तुलना में 2-5% अधिक तेज चलना पड़ता है।

2. चाल में यह अंतर लीड कहलाता है। यदि लीड इससे कम हो तो यांत्रिक और चालन संबंधी समस्याएं आ सकती हैं।

3. गलत लीड के लक्षण:

a) आगे के डिफरेंशियल सील का रिसाव,

b) आगे या पीछे के टायरों में अधिक घिसावट,

c) इन्धन की अधिक खपत,

d) ट्रैक्टर का अधिक उछलना,

e) 2WD मोड में ट्रैक्टर अधिक आसानी से काम करता है।

4. लीड की मात्रा के जांच। लीड की जांच के लिए ट्रैक्टर को चिकनी, समतल और कड़ी सतह पर चलाकर आगे और पीछे के यांत्रिक अनुपात की गणना करनी पड़ती है और इसकी तुलना आगे और पीछे के टायरों के अनुपात से करनी पड़ती है।

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/landprep/index.php/types-of-farm-power-mainmenu-118/the-use-of-track-laying-tractors-mainmenu-123/95-the-c
Copy rights | Disclaimer | RKMP Policies