Best Viewed in Mozilla Firefox, Google Chrome

प्रतिरोधक पोषक पौधों द्वारा राइस ग्रासी स्टंट का नियंत्रण

PrintPrintSend to friendSend to friend

1. ग्रासी स्टंट वायरस का संचरण भूरे टिड्डे Nilaparvata lugens Stal द्वारा होता है। 

2. रोग का प्रसार  Nilaparvata bakeri Muir तथा N. muiri China द्वारा भी होता है। 

3. वायरस तथा उसके वाहक के बीच अंतःक्रिया बिना ट्रांसोवायरल मार्ग से होता है। 

4. कीट इस वायरस को 30 मिनट में प्राप्त कर लेता है, जो उसके आहार अवधि के दौरान होता है। 

5. पौधे 9 मिनट की आहार अवधि में भी संक्रमित हो सकते हैं। कीटों में इंक्युबेशन में 5-28 दिन लग सकते हैं, जो औसतल 11 दिनों का होता है।  

6. जबकि पौधों में इंक्युबेशन रेंज 10 से 19 दिनों का होता है। वायरस युक्त कीट जीवनभर संक्रमित रहते हैं।  

 

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/ricedoctor/I ndex.php?option=com_content &view=article& id=563&Itemid=2768
Copy rights | Disclaimer | RKMP Policies