Best Viewed in Mozilla Firefox, Google Chrome

जिब्रैलिक एसिड (GA3) का अनुप्रयोग

PrintPrintSend to friendSend to friend

1. जिब्रैलिक एसिड (GA3) का अनुप्रयोग : यह एक प्रभावी और कारगर ग्रोथ हार्मोन है जो कोशिका के आकार को फैलाता है, इसलिए इसका इस्तेमाल CMS लाइन में पुष्पगुच्छ को निर्गमन को प्रोत्साहित करने के लिए किया जा सकता है।

2 . GA3 के निम्नलिखित अनुकूल प्रभाव होते हैं:

i. यह पुष्पक के खिलने की अवधि को बढ़ाता है।
ii. वर्तिकाग्र के निर्गमन और ग्रहणशीलता को बढ़ाता है।
iii. पौधे की ऊंचाई को बढ़ाता है
iv. पुष्पण को प्रभावित करता है जिस कारण पैरेंटल लाइन में पुष्पण को समायोजित किया जा सकता है।
v. ध्वज पत्र के कोण को बड़ा करता है।
vi. द्वितीयक और तृतीयक टिलर के निर्गमन और वृद्धि को प्रोत्साहित करता है।

3. चावल के हाइब्रिड बीज उत्पादन वाले खेत में GA3 के प्रथम छिड़काव (40%) पर 5-10% पुष्पगुच्छ का प्रकट होना बिल्कुल स्वाभाविक है। इसके बाद GA3 की शेष मात्रा यानि 60% अगले दिन छिड़कना चाहिए।

4. छिड़काव का सही समय सुबह 8 से 10 के बीच अथवा शाम को 4 से 6 के बीच होता है। बादल वाले दिनों में और तेज हवा चलने की स्थिति में छिड़काव नहीं करना चाहिए।

5. GA3 की 45-60 ग्राम/हे. मात्रा सही मानी जाती है। यह हार्मोन पानी में नहीं घुलता इसलिए इसे 70% अल्कोहल में घुलाना चाहिए (1 ग्राम GA3 25-40 मिलि अल्कोहल में)।

File Courtesy: 
IRRI
Image Courtesy: 
IRRI
Copy rights | Disclaimer | RKMP Policies