Best Viewed in Mozilla Firefox, Google Chrome

Post Harvest Management

Post Harvest Management
20
Sep

ड्राइंग ओवन विधि द्वारा नमी की मात्रा की जांच

दाने के नमूने को दो घंटे तक 130 डिग्री से. पर सुखाया गया। नमी की जांच के लिए किए जाने वाले कार्य: 

1. खाली बरतन की उसके ढक्कन के साथ वजन करें।

2. अनाज के दिए गए नमूने को एक छोटे चम्मच से अच्छी तरह चलाना चाहिए और इस नमूने के दो भागों को सीधे बरतन में तौलना चाहिए।  

3. अनाज के दानों को बरतन के पेन्दी में समान रूप से फैला देना चाहिए।

4. वजन लेने के बाद बरतन के ढक्कन को हटा दें और खुले बरतन को ओवन में रखें जो पहले से ही सुखाने के अनुशंसित तापमान तक गर्म हो।

5. सुखाने की अवधि के अंत में बरतन को उसके ढक्कन से ढक देना चाहिए।

File Courtesy: 
DRR ट्रेनिंग मैनुअल
20
Sep

अनाज में मौजूद नमी की मात्रा का निर्धारण

1. ISTA नियमों के अनुसार, दाने के नमूने में मौजूद नमी की मात्रा वह क्षति है जो अनाज से सूखने के बाद देखने को मिलती है। इसे मूल नमूने के वजन के प्रतिशत के रूप में व्यक्त किया जाता है। नमी की जांच की विभिन्न विधियां हैं, जैसे- ओवन विधि, यूनिवर्सल OSAW मीटर विधि, इलेक्ट्रॉनिक मीटर विधि आदि।

File Courtesy: 
DRR मैनुअल
20
Sep

थ्रेशिंग के दौरान हुई क्षति का मूल्यांकन

1. थ्रेशर के भूसा निकलने वाले रास्ते पर एक बड़ा सा जाल लगा दें जिसमें सभी भूसे जमा होंगे। कुछ देर तक थ्रेशिंग के बाद निकले हुए सारे पदार्थों की जांच करें और हाथ से सभी पके दानों को बालियों में से अलग कर लें।

2. यदि खेत का क्षेत्रफल मालूम हो तो ब्लोअर लॉस को किग्रा/हे. के रूप में व्यक्त किया जा सकता है या थ्रेशर का संवेश-प्रवाह ज्ञात होने की स्थिति में इसे थ्रेशर से तैयार अनाज के प्रतिशत के रूप में व्यक्त किया जा सकता है। 

3.समान आर्द्रता, आमतौर पर 14% के आधार पर सभी क्षति की रिपोर्ट करनी चाहिए।

 

 

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/rkb/index.php/measurements-in-harvesting/harvesting-loss-assessment
20
Sep

बिखरकर हुई क्षति का मूल्यांकन

1.थ्रेशर या क्लीनर को बड़े से प्लास्टिक ट्रैप पर रखें। थ्रेशिंग और सफाई के बाद मशीन को आराम से हटाएं और ट्रैप में एकत्र सभी अनाज को जमा करें।   

2. यदि खेत का क्षेत्रफल मालूम हो तो ब्लोअर लॉस को किग्रा/हे. के रूप में व्यक्त किया जा सकता है। 

3.  थ्रेशर का संवेश-प्रवाह ज्ञात होने की स्थिति में इसे थ्रेशर से तैयार अनाज के प्रतिशत के रूप में व्यक्त किया ।          

4. समान आर्द्रता, आमतौर पर 14% के आधार पर सभी क्षति की रिपोर्ट करनी चाहिए।

 

 

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/rkb/index.php/measurements-in-harvesting/harvesting-loss-assessment
20
Sep

ब्लोअर या क्लीनर लॉस असेसमेंट

1.थ्रेशिंग या सफाई के दौरान ब्लोअर इग्जॉस्ट पर जाल लपेटें जिसमें सभी भूसे, तिनके और दानें जमा हो जाएंगे लेकिन उनसे हवा के प्रवाह को बाधा नहीं पहुंचेगी। 

2. सामग्री की सफाई कर अनाज एकत्र करें और उन्हें सुखाकर आर्द्रता को 14% कर लें।  यदि खेत का क्षेत्रफल मालूम हो तो ब्लोअर लॉस को किग्रा/हे. के रूप में व्यक्त किया जा सकता है या थ्रेशर का संवेश-प्रवाह ज्ञात होने की स्थिति में इसे थ्रेशर से तैयार अनाज के प्रतिशत के रूप में व्यक्त किया जा सकता है। 

3.समान आर्द्रता, आमतौर पर 14% के आधार पर सभी क्षति की रिपोर्ट करनी चाहिए।  

 

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/rkb/index.php/measurements-in-harvesting/harvesting-loss-assessment
20
Sep

परिचालन के कारण चावल की क्षति

1. परिचालन क्षति = अनाज को उठाने, उसकी ढुलाई, ढेरीकरण, अनाज के उड़ेलने और बोराबंदी के दौरान धान के दानों की क्षति।

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/rkb/index.php/measurements-in-harvesting/harvesting-loss-assessment
20
Sep

फसल और आनज के परिचालन के दौरान होने वाली क्षति

1. फसल और आनज के परिचालन के दौरान होने वाली क्षति में शामिल हैं ब्लोअर या क्लीनर लॉस असेसमेंट, स्कैटर लॉस असेसमेंट, थ्रेशिंग लॉस असेसमेंट, अनाज में मौजूद आर्द्रता का निर्धारण।

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/rkb/index.php/measurements-in- harvesting/harvesting-loss-assessment
20
Sep

थ्रेशिंग के दौरान अनाज के डंठलों से अलग न हो सकने वाले दानें या थ्रेशिंग की क्षति

1.थ्रेशिंग के दौरान अनाज के डंठलों से अलग न हो सकने वाले दानें या थ्रेशिंग लॉस = थ्रेशिंग के दौरान अनाज के डंठलों से अलग न हो सकने वाले दानें। थ्रेशिंग की उच्च दक्षता से थ्रेशिन्ग लॉस कम होता है और थ्रेशिंग लॉस कम हो तो थ्रेशिंग की दक्षता उच्च मानी जाती है।

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/rkb/index.php/measurements-in -harvesting/harvesting-loss-assessment
20
Sep

थ्रेशिंग और अनाज की सफाई के दौरान बिखराव के कारण होने वाली क्षति

बिखराव के कारण क्षति = थ्रेशिंग और अनाज की सफाई के दौरान जमीन पर बिखरने वाले अनाज के दानें।

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/rkb/index.php/measurements-in-harvesting/harvesting-loss-assessment
20
Sep

थ्रेशिंग और सफाई के दौरान लूज डंठलों/भूसों की क्षति या ब्लोअर क्षति

1. लूज डंठलों/भूसों की क्षति या “ब्लोअर क्षति” = सफाई के दौरान अनाज के डंठल और भूसे के साथ मिले हुए परिपक्व दानें।

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/rkb/index.php/measurements-in-harvesting/harvesting-loss-assessment
20
Sep

थ्रेशिंग और अनाज की सफाई के दौरान क्षति

1. थ्रेशिंग और अनाज की सफाई के दौरान क्षति में शामिल हैं लूज डंठलों/भूसों की क्षति या ब्लोअर क्षति, बिखराव के कारण क्षति और अनाज के डंठल से अलग नहीं होने के कारण अर्थात थ्रेशिंग क्षति।

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/rkb/index.php/measurements-in- harvesting/harvesting-loss-assessment
20
Sep

कटाई के दौरान अनाज के झड़ने के कारण क्षति

1.खेत में 1-2 वर्ग मी क्षेत्रफल के यादृच्छिक टुकड़े चुन लेने चाहिए।    

2. कटाई प्रक्रिया के बाद इन जमीन के टुकड़ों में गिरे सारे दानों को जमा करना चाहिए। 

3. यदि खेत का क्षेत्रफल मालूम हो तो क्षति को किग्रा/हे. के रूप में व्यक्त किया जा सकता है या उपज का परिमाण ज्ञात होने की स्थिति में इसे उपज के प्रतिशत के रूप में व्यक्त किया जा सकता है। 

4. समान आर्द्रता, आमतौर पर 14% के आधार पर सभी क्षति की रिपोर्ट करनी चाहिए।

 

 

 

 

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/rkb/index.php/measurements-in-harvesting/harvesting-loss-assessment
20
Sep

कटाई के दौरान क्षति

1. अनाज के झड़ने से हुई क्षति = बालियों से परिपक्व अनाज का समय-पूर्व झड़ जाना। यह पक्षियों, हवा, चूहों और परिचालन क्रिया के कारण हो सकती है।

2. लॉजिंग क्षति = बालियों में पके हुए दानों वाले पौधे जमीन पर गिर जाते हैं जिसकारण उन्हें समेटना मुश्किल हो जाता है। 

3. खड़ी फसल की क्षति = पके दानों वाले खड़े पौधे भी कभी-कभी कटाई के दौरान हुई लापरवाही के कारण खेत में छूट जाते हैं।   

 

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/rkb/index.php/measurements-in-harvesting/harvesting-loss-assessment
20
Sep

कटाई के दौरान होने वाली क्षति का आकलन

1. कटाई के दौरान होने वाली प्रमुख क्षति इसप्रकार हैं: खेत में अनाज झड़ने के कारण होने वाली क्षति, कटी हुई फसल के बोझों के ढेर लगाने के दौरान हुई क्षति और मुख्य खेत से अनाज तैयारी वाले खलिहान तक परिवहन में होने वाली क्षति ।

File Courtesy: 
DRR ट्रेनिंग मैनुअल
20
Sep

फसल कटाई के लागत

1. एक एकड़ धान की फसल की कटाई पर 2300रु. की लागत आती है।

File Courtesy: 
http://agritech.tnau.ac.in/agriculture/agri_costofcultivation_rice.html
20
Sep

दानों की शुद्धता

1. शुद्ध दानों का अर्थ है एक ही किस्म, प्रजाति या प्रकार के दानें।

2. दानों की शुद्धता को बरकरार रखने के लिए यह सुनिश्चित करना चहिए कि इनमें किसी अन्य प्रकार या किस्म या प्रजाति के अनाज के दानें मिश्रित न हों।

File Courtesy: 
DRR ट्रेनिंग मैनुअल
20
Sep

दानों की ग्रेडिंग

1. ग्रेडिंग के द्वारा समान आकार और वजन के दानों को अलग-अलग किया जा सकता है।

2. ग्रेविटी सेपेरेटर, रोटरी चालनी, इंडेंटेड सिलिंडर आउर लेंथ ग्रेडर का इस्तेमाल ग्रेडिंग के लिए किया जा सकता है।

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/rkb/index.php/cleaning
20
Sep

दानों की सफाई

1. सीड क्लीनर में हल्की वस्तुओं को हटाने के लिए पंखे युक्त विनोइंग

और छोटे आकार की वस्तुओं को अलग करने के लिए दोलन करने वाली चालनी युक्त शिफ्टिंग का प्रयोग किया जाता है।

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/rkb/index.php/cleaning
Image Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/rkb/index.php/cleaning
20
Sep

चालन/शिफ्टिंग

1. खरपतवार के बीज जैसे छोटे पदार्थ, मिट्टी के कण और कंकड़ों को छोटे आकार

की चालनी (1.4 मिमि या उससे कम आकार के छिद्रों वाली) से अनाज चालकर निकाला जा सकता है।

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/rkb/index.php/cleaning
Image Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/rkb/index.php/cleaning
20
Sep

अनाज ओसाने के सही तरीके/अनुशंसित विधियां

अनाज ओसाने के सही तरीके/अनुशंसित विधियां : 

1.विनोइंग ट्रे (सूप) पर अनाज रखें।

2. जमीन पर चटाई बिछाएं।

3. सूप को हवा की ओर झुकाएं। एक मी की ऊंचाई से धीरे-धीरे अनाज नीचे गिराएं।

4. हवा के द्वारा हल्की चीजें अनाज के भारी दानों से अलग कर दी जाएंगी।

5. केवल वजनदार दानों को अलग करें। जरूरत हो तो इस प्रक्रिया को फिर से दुहराएं। 

6. यदि हवा की गति पर्याप्त न हो तो पंखे या ब्लोअर का सहारा लें।

 

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/rkb/index.php/cleaning
Syndicate content
Copy rights | Disclaimer | RKMP Policies