Best Viewed in Mozilla Firefox, Google Chrome

Growth & Development

Growth & Development
13
Sep

खेत की गीली अवस्था में दो बार जुताई

1. ज्यादातर खेतों को समतलीकरण से पहले दो बार जोतने की जरूरत होती है।

2. अंतिम जुताई सबसे अच्छी तरह तब होती है जब खेत में पानी लगा रहे।

3. इससे जुताई आसान होती है और खेत के उच्च और निम्न बिन्दुओं को चिह्नित करना आसान होता है।

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/landprep/index.php/lan d-leveling-mainmenu-65/land-leveling-using-draft-animals -mainmenu-70
13
Sep

भारवाही पशुओं की मदद से भूमिसमतलीकरण की प्रक्रिया

भारवाही पशुओं की मदद से भूमिसमतलीकरण की प्रक्रिया:

1. गीली अवस्था में खेत की दो बार जुताई करें।

2. खेत के उच्च और निम्न बिन्दुओं को चिह्नित करें।

3. समतलीकरण शुरू करें।

4. मेड़ की मरम्मत करें।

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/landprep/index.php/land-leveling-mainmenu-65/land-leveling-using-draft-animals-mainmenu-70
13
Sep

भारवाही पशुओं की मदद से भूमि का समतलीकरण

एक जोड़ा भारवाही पशु और एक समतलीकरण पट्टिका से खेत को समतल करने के लिए निम्नलिखित उपकरणों की आवश्यता होती है:

1. एक या दो पशु

2. हल (मोल्डबोर्ड या देशी हल)

3. हैरो या लेवलिंग बोर्ड

4. वाटर पंप (यदि खेत जलमग्न न हो)

File Courtesy: 
http://www.knowledg ebank.irri.org/landprep/Index.php/land-leveling-mainmenu-65/land-leveling-using-draft-animals mainmenu-70
13
Sep

समतलीकरण के परिणाम

1. किसानों के लिए एक अच्छा नियम है-“फसल वाले खेत को भी वैसा ही समतल करें जैसा बिचड़े वाले नर्सरी को करते हैं”। अथवा यह कि “फसल की अच्छी वृद्धि के लिए खेत का अच्छा समतलीकरण”।

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/landprep/index.php/land-leveling-mainmenu-65/principles-of-land-leveling-mainmenu-69
13
Sep

मेड़ों का रखरखाव या उनकी मरम्मत

1. मेड़ की मरम्मत के लिए पहले या तो जुताई करते हुए मिट्टी को मॆड़ की ओर 

ले जाएं अथवा यह काम हाथ से या फावड़े से करें।

2. मेड़ों का रखरखाव इसलिए जरूरी है इनके बिना खेत के समतलीकरण के जरिए किसी बेहतरीन जल प्रबंधन की अपेक्षा नहीं की जा सकती क्योंकि उस स्थिति में खेत से पानी बह कर बाहर निकल जाएगा।

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/landprep/index.php/land-leveling-mainmenu-65/principles-of-land-leveling-mainmenu-69
Image Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri .org/landprep/index.php/land-le veling-mainmenu-65/principles- of-land-leveling-mainmenu-69
13
Sep

खेत के समतलीकरण की शुरुआत

1. खेत के उच्चवर्ती हिस्से में समतलीकरण उपकरण को स्थित करें और

मिट्टी को निचले हिस्से की ओर ले जाएं।

2. यदि खेत जुते हुए हों और समतलीकरण की उन्हीं विधियों को अगले साल अपनाया जाए तो खेत अपेक्षाकृत अधिक अच्छी तरह समतल होता है।

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/landprep/index.php/land-leveling-mainmenu-65/principles-of-land-leveling-mainmenu-69
Image Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri .org/landprep/index.php/land-le veling-mainmenu-65/principles- of-land-leveling-mainmenu-69
13
Sep

खेत के उच्च और निम्न स्थलों की पहचान

1. खेतों में जल की स्थिति से अथवा स्थलाकृतिक सर्वेक्षण के द्वारा खेत के  

उच्च और निम्न स्थलों की पहचान करें।

2. इस चिह्नीकरण से खेत के ऊंचे स्थान से नीचे की ओर मिट्टी को दक्षतापूर्वक लाने की रणनीति बनाने में सुविधा होती है। ध्यान रखें कि मिट्टी को 50मी. से ज्यादा खिसकाने में मुश्किल होती है।

3. यदि मिट्टी को 50 मी. से ज्यादा खिसकाना हो तो इसे पहले ऊंचे स्थान से मध्यवर्ती स्थान की ओर, और फिर मध्यवर्ती स्थान से निचले स्थान की ओर स्थानांतरित करें।

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/landprep/index.php/lan d-leveling-mainmenu-65/principles-of-land-leveling-mainmenu-69
Image Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri .org/landprep/index.php/land-le veling-mainmenu-65/principles- of-land-leveling-mainmenu-69
13
Sep

खेत की जुताई

1. खेत की जुताई मध्य भाग से किनारे की ओर करें।

2. यदि खेत विस्तृत है तो बड़े क्षेत्रफल में जुताई बड़ी दक्षतापूर्वक होती है।

3. हल की लकीरें यदि अधिक चौड़ी न हुई तो वे खेत के अंदर ड्रेनेज लाइनों का काम करती हैं।

4. इससे मेड़ अच्छी स्थिति में रहती है और मेड़ के अंतर्गत आने वाला क्षेत्रफल मे कमी आती है

। 5. इससे खेतों का अपवाह तंत्र सुदृढ़ होता है। समतलीकरण से पहले ज्यादातर खेतों की दो बार जुताई करनी पड़ती है।

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/landprep/index.php/land-leveling-mainmenu-65/principles-of-land-leveling-mainmenu-69
13
Sep

भूमि के समतलीकरण की प्रक्रिया

अच्छे समतलीकरण के लिए 5 बातों का ख्याल रखना चाहिए: 

1. खेत की दो बार जुताई करें।

2. स्थलाकृतिक सर्वेक्षण के जरिए खेत की क्षैतिजता की माप करें।

3. खेत का स्थलाकृतिक नक्शा तैयार करें।

4. खेत के उच्च और निम्न स्थान को चिह्नित करें।

5. सबसे किफायती विधि द्वारा मिट्टी को खेत के ऊंचे स्थान से निचले स्थान की ओर लाएं।

File Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri.org/landprep/index.php/land-le veling-mainmenu-65/principles-of-land-leveling-mainmenu-69
Image Courtesy: 
http://www.knowledgebank.irri .org/landprep/index.php/land-le veling-mainmenu-65/principles- of-land-leveling-mainmenu-69
13
Sep

भूमि समतल करने के सिद्धांत

भूमि समतल करने के दो सिद्धांत हैं:

1. भूमी के समतलीकरण में सबसे किफायती विधि द्वारा मिट्टी को खेत के ऊंचे स्थान से नीचे की ओर लाया जाता है।

2. चाहे पशुओं की मदद से या ट्रैक्टर से किया जाए, समतलीकरण की प्रक्रिया समान होती है।

File Courtesy: 
http://www.knowledgeba nk.irri.org/landprep/index.php/land-leveling-mainmenu-65/principles-of-land-leveling-mainmenu-69
13
Sep

खेत के समतलीकरण की प्रणाली

खेतों की विभिन्न स्थितियों के लिए अलग-अलग प्रकार की प्रणालियों की आवश्यकता होती है:

1. भारवाही पशुओं और 2-पहियों के ट्रैक्टर के साथ हैरो और लेवलिंग बोर्ड के इस्तेमाल द्वारा। समतलीकरण की इन विधियों के लिए खेत में पूरा पानी भरा होना चाहिए और एक हे. खेत को समतल करने में 2 पहियों वाले ट्रैक्टर से 7-8 दिन और पशुओं के इस्तेमाल से 12 दिन लगते हैं।

2. 4 पहियों वाले ट्रैक्टर खेत की गीली और सूखी दोनों स्थितियों में बहुत प्रभावी होते हैं। गीले खेत ट्रैक्टर के पीछे लगे ब्लेड से अच्छी तरह समतल होते हैं।

File Courtesy: 
http://www.knowledgeba nk.irri.org/landprep/index.php/land-leveling-mainmenu-65/systems-of-land-levelling-mainmenu-67
13
Sep

जल के प्रयोग में दक्षता

एशियाई खेतों की औसत असमता 160 मिमि होती है। इसका अर्थ हुआ: 

1. खेत के हर हिस्से को जल भरा रखने के लिए 100मिमि अतिरिक्त जल की अवश्यकता।

2. खेत की तैयारी, फसल की स्थापना और सिंचाई के लिए ऊंचे खेत का पानी निचले खेत में इस्तेमाल किया जा सकता है।

File Courtesy: 
DRR ट्रेनिंग मैनुअल
Image Courtesy: 
IRRI
13
Sep

खेत में फसल लगाया जाना

1. खेत के समतलीकरण से फसल लगाने में सहूलियत होती है और इस कारण 30 श्रमदिवसों की बचत होती है।

File Courtesy: 
DRR ट्रेनिंग मैनुअल
13
Sep

खेत में किए जाने वाले कृषि कर्म

1. समतलीकरण से बड़े आकार के खेतों में फसल लगाया जा सकता है और खेतों का औसत आकार 0.1 हे. से बढ़कर 0.5 हे. तक करना संभव होता है।

2. खेतों के आकार के पुनर्गठन होने से खेतों में किए जाने वाले क्रियाकलापों में 10-15% तक समय की बचत होती है।

File Courtesy: 
DRR ट्रेनिंग मैनुअल
13
Sep

खरपतवारों पर नियंत्रण

1. समतलीकरण से जल की उपस्थिति खेत में समान रूप से होने के कारण खरपतवार में 40% की कमी आती है।

2. खरपतवार निकालने में 21 श्रम दिवस/हे. से घटकर 5 श्रम दिवस/हे. हो जाता है।

File Courtesy: 
DRR ट्रेनिंग मैनुअल
13
Sep

चावल की उपज

1. चावल की उपज प्रति हे. 24% या 530 किग्रा बढ़ी।

2. खेत की धरातल 10मिमि ऊबड़-खाबड़ होने से उपज में 260 किग्रा. की कमी आती है।

File Courtesy: 
DRR ट्रेनिंग मैनुअल
13
Sep

खेत के समतलीकरण के फायदे

1. चावल की उपज अधिक होती है।

2. खरपतवार पर प्रभावी नियंत्रण रहता है।

3. खेत में किए जाने वाले विभिन्न कृषि कर्मों में सहूलियत।

4. फसल लगाने में सहूलियत होते है।

File Courtesy: 
DRR ट्रेनिंग मैनुअल
13
Sep

भूमि का समतलीकरण क्या है?

1. खेत की जुताई या कीचड़ तैयार करने के बाद खेत के ऊंचे-नीचे हिस्से को बराबर करना समतलीकरण कहलाता है।

2. जुते हुए खेत के ऊबड़-खाबड़ होने से फसल के आधार भूमि ऊंची-नीची होती है जिस कारण खरपतवार की वृद्धि बढ़ जाती है और फसल एक समान रूप से नहीं पकती।

3. भूमि के समतलीकरण से फसल की स्थापना बेहतर होती है और फसल के रखरखाव पर ज्यादा खर्च नहीं करना पड़ता है।

File Courtesy: 
http://www.ikisan.com/Crop%20Sp ecific/Eng/links/ap_rice%20LandPreparation.shtml
13
Sep

भूमि की तैयारी का उद्देश्य

चावल के लिए भूमि की तैयारी विधियां और स्तर रोपण की विधियों और

पानी की उपलब्धता (वर्षा जल या सिंचाई) पर आधारित होते हैं। भूमि की पारंपरिक तैयारी के सबसे बड़े फायदे हैं:

1. खरपतवारों का नियंत्रण

2. ऊर्वरकों का प्रयोग

3. मिट्टी की उर्वरता और उसमें वायु प्रवाह को बढ़ाना।

4. लीच्ड डिपोजिशन के लिए मिट्टी को मिश्रित करना।

5. पोषक तत्त्वों के अवशोषण को बढ़ाने के लिए खेत की अच्छी तरह जुताई।

File Courtesy: 
http://books.google.co.in/books?id=0odDhoWN7DIC&pg=PA259&lpg=PA259&dq=Land+Preparation+for+rice&source=bl&ots=kg5WlSjTlf&sig=XR6RsVYTF1PMOx460sbY5l-rMdg&hl=en&ei=Tas-TfS5OMWyrAe-hryaCA&sa=X&oi=book_result&ct=result&resnu m=5&ved=0CDsQ6AEwBA#v=onepage&q=Land%20Preparation%20for%20rice&f=false
Image Courtesy: 
DRR ट्रेनिंग मैनुअल
13
Sep

भूमि की तैयारी

भूमि की अच्छी तैयारी के पांच आधार होते हैं:

1. भूमि की तैयारी में जुताई और समतलीकरण की भूमिका

2. भूमि की अच्छी तैयारी के जरूरी होने का कारण।

3. जुताई के लिए इस्तेमाल होने वाले विभिन्न प्रणालियां और उपकरण।

4. विभिन्न उपकरणों की मदद से विभिन्न प्रकार की मिट्टियों में जुताई के लिए आवश्यक ऊर्जा।

5. आधारभूत व्यवस्था और परिचालन उपकरण।

File Courtesy: 
IRRI
Syndicate content
Copy rights | Disclaimer | RKMP Policies