Best Viewed in Mozilla Firefox, Google Chrome

Pests

Pests
10
Oct

Gundhi bug गन्धी बग

1. गन्धी बग (Leptocorisa oratorious) उच्च भूमि और निम्न भूमि

की चावल की फसल को आक्रांत करने वाला सबसे गंभीर किस्म का कीट है।  

2. निम्फ और वयस्क, दोनों, विकसित हो रहे दानों का रस पी जाते हैं जिस कारण फसल में खोखले दाने की समस्या होती है।  

3. वयस्क की तुलना में निम्फ अधिक हानिकारक होते हैं। ये कीट फसल को 20-40% तक नुकसान पहुंचाते हैं।

 

 

File Courtesy: 
ICAR NEH,उमियम
Image Courtesy: 
CRRI
10
Oct

Rice green semilooper राइस ग्रीन सेमीलूपर

1. राइस ग्रीन सेमीलूपर (Naranga aenescens) चावल की फसल

को प्रभावित करने वाला एक प्रमुख कीट है। 

2. यह 30-40 दिन के हो चुकी उच्चभूमि चावल की फसल पर हमला करता है और 65 दिनों तक इसे आक्रांत करना जारी रखता है। लार्वा मुख्य रूप से पत्तों को खाता है और उसे नष्ट कर देता है। 

3. खेत की अवस्था में  Apanteles sp. द्वारा ग्रीन सेमीलूपर को 80% तक परजीवीकृत किया जाता है।

 

 

File Courtesy: 
ICAR NEH,उमियम
Image Courtesy: 
IRRI
10
Oct

Rice ear cutting caterpillar राइस ईयर कटिंग कैटरपिलर

1. राइस ईयर कटिंग कैटरपिलर (Mythimna separata) का 1982 में असम में भारी प्रकोप हुआ था और फिर यह मणिपुर, अरुणाचलप्रदेश, मेघालय और त्रिपुरा में फैला।

2. इस क्षेत्र में यह चावल के फसल में लगने वाला एक महत्वपूर्ण कीट है। इसके प्रकोप से खड़ी फसल शत-प्रतिशत नष्ट हो सकती है। 

3. लार्वा धान की बाली के शीर्ष को काट कर उसे पौधे के तने के पीछे डाल देता है जो देखने में ऐसा लगता है मानो किसी जानवर द्वारा चर लिया गया हो। यह सीधे फसल की उपज को प्रभावित करता है।

 

 

 

File Courtesy: 
ICAR NEH,उमियम
10
Oct

Rice Hispa राइस हिस्पा

1. राइस हिस्पा (Dicladispa armigera) एक नीले-काले रंग का बीटल है

जो स्पाइन से ढका होता है। लार्वा द्वारा पत्तों में लंबे सुरंग बनाए जाते हैं जबकि वयस्क पत्तियों से क्लोरोफिल खुरच कर हटा दिया जाता है।   

2. प्रभावित पत्तियां सफेद जालीदार हो जाती हैं और आखिरकार सूख जाती हैं। पत्र फलक की ऊपरी सतह के खुरच जाने से निचला एपिडर्मिस सफेद लकीर की तरह हो जाता है और यह मध्यशिरा के समांतर होता है। 

File Courtesy: 
ICAR NEH,उमियम
Image Courtesy: 
CRRI
10
Oct

Rice gall midge राइस गॉलमिज़

1. गॉल मिज़ (Orseolia oryzae) मणिपुर में धान की फसल में

लगने वाला एक बहुत ही हानिकर कीट है और यह संपूर्ण क्षेत्र में एक सामान्य कीट के रूप में पाया जाता है। 

2. चावल की फसल में कल्ले फूटने के समय इसका प्रकोप उच्च और निम्न दोनों प्रकार की भूमियों में होता है। असम के गहरे पानी वाले क्षेत्रों में भी इसके पाए जाने की पुष्टि हुई है।

File Courtesy: 
ICAR NEH,उमियम
Image Courtesy: 
CRRI
10
Oct

Rice Thrips राइस थ्राइप्स

1. थ्राइप्स के निम्फ (शिशुकीट) और वयस्क दोनों ही कोमल पत्तियों

के रस पीकर जीते हैं।

2. प्रभावित पौधे के पत्तों के अग्र भाग मुर्झाने लगता है और मुड़ जाता है। पत्तों के इन्हीं मोड़ों में थ्राइप्स रहते हैं।

3. सिक्किम में और त्रिपुरा, मिजोरम, मेघालय, मणिपुर एवं अरुणाचल प्रदेश के झूम क्षेत्रों में पाए जाने वाला  यह एक गंभीर नुकसान पहुंचाने वाला कीट है।  

 

File Courtesy: 
ICAR NEH,उमियम
Image Courtesy: 
CRRI
10
Oct

Rice Armyworm राइस आर्मीवर्म

1. आर्मी वर्म (Spodoptera mauritia) मेघालय के जोवई जिले के उमरैयांग घाटी, मणिपुर और त्रिपुरा राज्यों घाटी क्षेत्र में चावल की फसल में तेजी से फैलने वाला कीट है।

2. कैटरपिलर पत्ते खाकर जीते हैं और फसल पर इनके गंभीर प्रकोप होने की स्थिति में बिचड़े और मुख्य फसल वाले संपूर्ण खेत नष्ट होकर इस तरह दिखते हैं मानो वे जानवरों के द्वारा चर लिए गए हों।    

3. रात के समय लार्वा बड़ी तेजी से पत्तों को खाते हैं और दिन के समय मिट्टी के छिद्रों और दरारों में छिप जाते हैं। 

 

File Courtesy: 
ICAR NEH,उमियम
10
Oct

Rice Caseworm राइस केसवर्म

1. केस वर्म (Nymphula depunctalis) उत्तर पूर्व के बहुत से इलाकों में

पाया जाने वाला गंभीर रूप से नुकसान पहुंचाने वाला कीट है।

2. वयस्क केस वर्म 6 मिमी लंबे होते हैं और इनके डैनों का फैलाव 15 मिमी होता है। हरे रंग के पतले कैटरपिलर 1.25 सेमी लंबे पत्ते के टुकड़े काटते हैं और इनसे नलिकाकार सरंचनाओं का निर्माण करते हैं जिन्हें खाकर वे एक से दूसरे पौधे पर जाते हैं। अधिक क्षति की स्थिति में पत्ते कंकलीय रूप में परिणत हो जाते हैं और उनका रंग सफेद हो जाता है।

 

 

File Courtesy: 
ICAR NEH,उमियम
Image Courtesy: 
CRRI
10
Oct

Rice Leaf roller राइस लीफ रोलर

1. लीफरोलर या लीफ फोल्डर (Cnaphalocrocis medinalisi) उच्चभूमि और

 निम्नभूमि चावल की फसलों में पाया जाने वाला सामान्य कीट है।

2. लार्वा पत्र फलक के किनारे को बांधकर उसे मोड़् देता है और उसके अन्दर रहकर मेसोफिल या हरित पदार्थ को खाता रहता है। 

3. लार्वा द्वारा खाए जाने के कारण पत्ती के उत्पादक क्षेत्रफल में कमी आती है और इससे पौधे की वृद्धि प्रभावित होती है। फसल में इसका अधिक प्रकोप होने से पौधों में सफेद धब्बे के साथ खेत का रुग्ण दिखाई पड़ता है। 

File Courtesy: 
ICAR NEH,उमियम
Image Courtesy: 
CRRI
10
Oct

Rice stem borer राइस स्टेम बोरर

1. स्टेम बोरर  (Scirpophaga incertulus) चावल का एक प्रमुख कीट है

और यह इस सारे क्षेत्र में पाया जाता है। मादा मॉथ के अगले डैने चमकीले पीले रंग के होते हैं और प्रत्येक पर एक काला धब्बा होता है। साथ ही पीले बालों वाले एनल टफ्ट भी पाया जाता है।

2. नर कीट के अगले डैने पर काले धब्बे नहीं पाए जाते। अंडे पत्तियों की छोर पर दिए जाते हैं जो पांडु रंग के रोम से ढके होते हैं। प्रत्येक अंडे के ढेर में 20-25 अंडे होते हैं और मादा ऐसे 3-4 अंडों के ढेर उत्पन्न करते हैं।

File Courtesy: 
ICAR NEH,उमियम
Image Courtesy: 
CRRI
10
Oct

Important pests of meghalaya and manipur मेघालय और मणिपुर के महत्वपूर्ण कीट

इस क्षेत्र में चावल की फसल को नुकसान पहुंचाने वाले आर्थिक रूप से महत्वपूर्ण (हानिकारक) कीट:  

1.  स्टेम बोरर 

2.  लीफरोलर

3.  केसवर्म 

4.  आर्मीवर्म

5.  थ्राइप्स

6.  गॉल मिज 

7.  राइस हिस्पा

8.  राइस ईयर कटिंग कैटरपिलर

9.  राइस ग्रीन सेमी लूपर

10. गन्धी बग

11. रूट ऐफिड्स

12. हॉर्न्ड कैटरपिलर

13. स्किपर

14. स्लग कैटरपिलर

 

File Courtesy: 
ICAR NEH,उमियम
10
Oct

Insect pests of rice in meghalaya and manipur मेघालय और मणिपुर में चावल की फसल में लगने कीट

1. जीव-जंतुओं की जितनी भी प्रजातियां हैं उनमें दो तिहाई कीट होते हैं। वे प्रायः सभी प्रकार वातावरण में पाए जाते हैं। यदि जलवायविक दशाएं अनुकूल हों तो वे अपनी संख्या बड़ी तेजी से बढ़ाते हैं। 

File Courtesy: 
ICAR NEH,उमियम
22
Sep

இலைப்பேன் (Thrips)

இலைப்பேன் (Thrips)

1. பொதுப்பெயர் -திரிப்ஸ்

2. அறிவியல் பெயர் - ஸ்டென்க்கோடோதிரிப்ஸ் பைபார்மிஸ்

3. உள்ளூர் பெயர் - இலைப்பேன்

இலைப்பேன் தாக்குதலின் அறிகுறிகள் (Symptoms of damage of Thrips)

File Courtesy: 
TNRRI - Aduthurai
Image Courtesy: 
Mr.Chaitanya, DRR
22
Sep

கதிர் நாவாய் பூச்சி தாக்குதலைக் கட்டுப்படுத்துதல் (Management of Rice earhead bug )

கதிர் நாவாய் பூச்சி தாக்குதலைக் கட்டுப்படுத்துதல் (Management of Rice earhead bug )

கீழ்க்கண்ட ஏதேனும் ஒரு பூச்சிக்கொல்லி மருந்து பொடியை பூ விடும் தருணத்திலும், பின்பு ஒரு வாரம் கழித்தும் ஒரு ஹெக்டேருக்கு 25 கிலோ என்ற விகிதத்தில் தூவ வேண்டும்

File Courtesy: 
TNRRI - Aduthurai
22
Sep

கதிர் நாவாய் பூச்சி (Rice earhead bug)

கதிர் நாவாய் பூச்சி (Rice earhead bug)

1. பொதுப்பெயர் – நெல் இலைக்காதுப்பூச்சி

2. அறிவியல் பெயர் - லெப்டோகொரைசா அக்யூட்டா

3. உள்ளூர் பெயர்- கதிர் நாவாய் பூச்சி

கதிர் நாவாய் பூச்சியின் தாக்குதலின் அறிகுறிகள் (Symptoms of damage of Rice earhead bug)

File Courtesy: 
TNRRI - Aduthurai
Image Courtesy: 
Mr.Chaitanya, DRR
22
Sep

மாவுப்பூச்சி (Mealybug)

மாவுப்பூச்சி (Mealybug)

1. பொதுப்பெயர்- மீலி பக்

2. அறிவியல பெயர் – பிரிவெனியா ரெகி

3. உள்ளூர் பெயர்-- மாவுப்பூச்சி

மாவுப்பூச்சியின் தாக்குதலின் அறிகுறிகள் (Damage of Mealybug)

  • அதிக அளவிலான பூச்சிகள் இலையின் அடிப்பகுதியில் இருந்து கொண்டு சத்தினை உறிஞ்சி விடுதல்
  • செடிகள் சத்தினை இழந்து, மஞ்சள் நிறமாக மாறி வளர்ச்சி குன்றி காணப்படும். மேலும் செடிகளில் வட்டவடிவத்திட்டுகளும் காணப்படும்

மாவுப்பூச்சியினை இனங்கண்டறிதல் ((Identification of Mealybug)

File Courtesy: 
TNRRI - Aduthurai
22
Sep

வெண் முதுகு தத்துப்பூச்சியினைக் கட்டுப்படுத்துதல் (Management of White backed plant hopper )

வெண் முதுகு தத்துப்பூச்சியினைக் கட்டுப்படுத்துதல் (Management of White backed plant hopper )

  • அளவிற்கு அதிகமாக நைட்ரஜன் உரங்களை உபயோகிப்பதைக் குறைத்தல்
  • இடைவிட்ட நீர் பாசனம் மூலம், பாயும் நீரின் அளவினைக் குறைத்தல்.

கீழ்க்கண்ட ஏதாவதொரு பூச்சிக்கொல்லி மருந்தினை உபயோகிக்கலாம்

File Courtesy: 
TNRRI - Aduthurai
22
Sep

வெண் முதுகு தத்துப்பூச்சி (White backed plant hopper)

வெண் முதுகு தத்துப்பூச்சி (White backed plant hopper)

1. பொதுப்பெயர்-- வெண் முதுகு தத்துப்பூச்சி

2. அறிவியல் பெயர் - சோகொட்டெல்லா பர்ஸிபெரா

3. உள்ளூர் பெயர்- வெண் முதுகு தத்துப்பூச்சி

வெண் முதுகு தத்துப்பூச்சியின் தாக்குதலின் அறிகுறிகள் (Damage of White backed plant hopper)

File Courtesy: 
TNRRI - Aduthurai
22
Sep

புகையானைக் கட்டுப்படுத்துதல் (Management of Brown plant leafhopper)

புகையானைக் கட்டுப்படுத்துதல் (Management of Brown plant leafhopper)

File Courtesy: 
TNRRI - Aduthurai
22
Sep

புகையான் (Brown plant leafhopper)

புகையான் (Brown plant leafhopper)

1. பொதுப்பெயர்- பழுப்பு நிற இலை வெட்டுப்பூச்சி

2.அறிவியல் பெயர்- நிலபர்வதா லுயூகன்ஸ்

3. உள்ளூர் பெயர்- புகையான்

புகையான் தாக்குதலின் அறிகுறிகள் (Symptoms of damage of Brown plant leafhopper)

File Courtesy: 
TNRRI - Aduthurai
Image Courtesy: 
Mr.Chaitanya, DRR
Syndicate content
Copy rights | Disclaimer | RKMP Policies