Best Viewed in Mozilla Firefox, Google Chrome

Government Schemes

5
Sep

नागपट्टिनम, पुदुक्कोट्टै, रामनाड, शिवगंगा और तिरुवरूर जिलों में संचालित चावल पर राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन

कल्याण योजना के अवयव और इसके लाभ :

1. प्रथाओं के उन्नत पैकेज के 0.4 हेक्टेयर में प्रदर्शन पर रु.2500/- की दर से या लागत का 50%, जो भी कम हो
2. एसआरआइ के 0.4 हेक्टेयर में प्रदर्शन पर रु.3000/- की दर से या लागत का 50%, जो भी कम हो
3. संकर चावल प्रौद्योगिकी के 0.4 हेक्टेयर में प्रदर्शन पर रु.3000/- की दर से या लागत का 50%, जो भी कम हो
4. संकर चावल के उत्पादन के लिए रु.1000/- प्रति क्विंटल की दर से
5. संकर चावल के बीज के वितरण पर रु.2000/- प्रति क्विंटल की दर से या लागत का 50%, जो भी कम हो

File Courtesy: 
http://agritech.tnau.ac.in/govt_schemes_services/govt_serv_schems.html
Related Terms: FISGovernment Schemes
5
Sep

फसलों की उत्पादकता बढ़ाने के लिए किसानों को सहायता

• स्थूल प्रबंधन मोड की योजनाएं
• अनाज विकास कार्यक्रम – धान

File Courtesy: 
http://agritech.tnau.ac.in/govt_schemes_services/govt_serv_schems.html
Related Terms: FISGovernment Schemes
5
Sep

गुणवत्तापूर्ण बीज के उत्पादन के लिए किसानों को सहायता

ए. धान के बीज गुणन की योजना :

• कल्याण योजना के अवयव और इसके लाभ
किसानों को प्रोत्साहित करने और उनके द्वारा किए गए विशेष प्रयासों की प्रतिपूर्ति के लिए किसानों द्वारा उत्पादित सम्पूर्ण बीज के लिए प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाती है।
• पात्रता तथा लाभ लेने की शर्तें :
वे सभी किसान, जो अनुबंध के आधार पर बीज उत्पादन कर कृषि विभाग को आपूर्ति करते हैं, इस कार्यक्रम के तहत अपने बीज खेतों के नाम पंजीकृत कराने के लिए पात्र हैं।
• सम्पर्क किए जाने वाले अधिकारी :
 ग्राम स्तर पर सहायक कृषि अधिकारी

 खण्ड स्तर पर सहायक बीज अधिकारी/ उप कृषि अधिकारी/ कृषि अधिकारी

File Courtesy: 
http://agritech.tnau.ac.in/govt_schemes_services/govt_serv_schems.html
Related Terms: FISGovernment Schemes
5
Sep

विस्तार और प्रशिक्षण के तहत किसानों को सहायता – किसानों के लिए प्रशिक्षण केन्द्र (एफटीसी)

• कल्याण योजना के अवयव और इसके लाभ
ए. किसानों को प्रशिक्षण
गांव में प्रशिक्षण के लिए 2 दिनों के लिए रु.20 प्रतिदिन की दर से वज़ीफा

बी. एफटीसी समन्वयकों का प्रशिक्षण
समन्वयक के गांव में प्रशिक्षण हेतु 2 दिनों के लिए रु.20 प्रतिदिन की दर से वज़ीफा
सी. किसानों का दौरा
प्रति वर्ष 50 सदस्यों के अध्ययन दौरे के लिए रु.2000/- की सहायता

डी. किसान दिवस पर किसानों को पुरस्कार
प्रदर्शन के आधार पर सर्वश्रेष्ठ किसानों को पुरस्कार दिए जाते हैं – 10 किसानों के लिए – रु.150/- का पुरस्कार
ई. विधि का प्रदर्शन
प्रति सदस्य रु.20/- प्रतिदिन की दर से वज़ीफा
एफ. पथिक प्रशिक्षण

File Courtesy: 
http://agritech.tnau.ac.in/govt_schemes_services/govt_serv_schems.html
Related Terms: FISGovernment Schemes
5
Sep

कृषि सहकारी समितियों को सहायता: मणिपुर

• योजना का नाम : कृषि सहकारी समितियों को सहायता
• प्रायोजक : राज्य सरकार
• वित्तपोषण का पैटर्न : राज्य योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा 100% वित्त पोषित
• विवरण : यह योजना मुख्य रूप से प्राथमिक कृषि सहकारी संस्थाओं (पीएसीएस) तथा बड़े क्षेत्र की बहुउद्देश्यीय सहकारी समितियों (एलएएमपीएस) की कार्यशील पूंजी को मजबूत करने के लिए सरकार के हिस्से का पूंजी योगदान प्रदान करने हेतु है।
• लाभार्थी : अन्य
• अन्य लाभार्थी : पीएसीएस
लाभ
• लाभ के प्रकार : अन्य
• अन्य लाभ : शेयर पूंजी
• विवरण : सहकारी संस्थाओं के प्रकार: - पीएसीएस, लक्ष्यित सहकारी संस्थाएं: -80, स्वीकृत राशि: - रु.8,00,000.00

File Courtesy: 
http://india.gov.in/citizen/agriculture/viewscheme.php?schemeid=648
Related Terms: FISGovernment Schemes
5
Sep

कृषि प्रौद्योगिकी प्रबंधन एजेंसी (एटीएमए): मणिपुर

• ब्यौरा कृषि प्रौद्योगिकी प्रबंधन एजेंसी (एटीएमए)
• योजना का नाम : केन्द्र सरकार
• प्रायोजक : 100% केंद्रीय प्रायोजित
• वित्तपोषण का पैटर्न : विस्तार की पारंपरिक प्रणाली का पुनर्गठन। एटीएमए के तहत कवर किया गया प्रमुख कार्यक्रम घटक है - एटीएमए की ‘i’ स्थापना।
• लाभार्थी : व्यक्तिगत, परिवार, समुदाय, महिलाएं, अन्य
• अन्य लाभार्थी : अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग
लाभ
• लाभ के प्रकार : सब्सिडी
• पात्रता के मानक : किसानों की सभी श्रेणियाँ
• किस तरह लाभ लें : लाभार्थियों का चयन जिला कृषि अधिकारी की सिफारिश के माध्यम से किया जाता है।

File Courtesy: 
http://india.gov.in/citizen/agriculture/viewscheme.php?schemeid=552
Related Terms: FISGovernment Schemes
5
Sep

फसल सांख्यिकी: मणिपुर

• योजना का नाम : फसल सांख्यिकी
• प्रायोजक : राज्य सरकार
• वित्तपोषण का : पैटर्न कार्य योजना का परिव्यय राज्य द्वारा साझा होगा
• मंत्रालय/ विभाग : कृषि विभाग
• विवरण : कार्यक्रम के उचित नियोजन व कार्यान्वयन के लिए फसल सांख्यिकी की इस योजना के तहत सर्वेक्षण, फसल काटने के प्रयोग, फसल प्रतियोगिता, फील्ड स्टाफ के प्रशिक्षण की तिथि सारणीबद्ध की जाएगी।
• लाभार्थी : समुदाय, अन्य
• अन्य लाभार्थी : किसान
लाभ
• विवरण : कृषि जानकारी कीसमय पर उपलब्धता अर्थात् फसल काटने का सर्वेक्षण, फसल प्रतियोगिता का आयोजन
• पात्रता के मानक : किसान की सभी श्रेणियों

File Courtesy: 
http://india.gov.in/citizen/agriculture/viewscheme.php?schemeid=708
Related Terms: FISGovernment Schemes
5
Sep

चिरस्थायी कृषि के लिए जैविक खेती का विकास: मणिपुर

• योजना का नाम : चिरस्थायी कृषि के लिए जैविक खेती का विकास

• प्रायोजक : राज्य सरकार

• वित्तपोषण का पैटर्न : योजना का परिव्यय राज्य द्वारा साझा होगा

• मंत्रालय/ विभाग : कृषि विभाग

• विवरण : यह योजना फसल उत्पादन विधि के माध्यम से लागू की जाती है जिसमें प्रकृति के नियमों का सम्मान करने के साथ पोषक, स्वस्थ और प्रदूषण मुक्त भोजन का उत्पादन करने का लक्ष्य होता है।

• लाभार्थी : व्यक्तिगत लाभ

File Courtesy: 
http://india.gov.in/citizen/agriculture/viewscheme.php?schemeid=716
Related Terms: FISGovernment Schemes
5
Sep

फार्म यंत्रीकरण: मणिपुर

• योजना का नाम : फार्म यंत्रीकरण
• प्रायोजक : केन्द्र सरकार
• वित्तपोषण का पैटर्न : 100% केंद्रीय अनुदान
• विवरण : i. कार्यक्रम के तहत, कवरेज के साथ-साथ प्रति इकाई उपज पर ज़ोर दिया जाता है। एफएम के अंतर्गत कवर किए गए कार्यक्रम के मुख्य घटक निम्नानुसार हैं: I. ट्रेक्टर ii. पावर टिलर / रीपर iii. पम्प सेट iv शक्ति-चलित उपकरण (कल्टिवेटर/ लेवलर) v.पशु द्वारा खींचे जाने वाले उपकरण (कल्टिवेटर) vi मानव-चलित उपकरण (पैडल थ्रेशर) vii. पावर थ्रेशर viii.रोटावेटर / स्ट्रिप टिल ड्रिल ix. स्प्रेयर x. सेल्फ प्रोपेल
• लाभार्थी : व्यक्तिगत, परिवार, समुदाय, महिलाएं, अन्य

File Courtesy: 
http://india.gov.in/citizen/agriculture/viewscheme.php?schemeid=547
Related Terms: FISGovernment Schemes
5
Sep

एकीकृत अनाज विकास कार्यक्रम (ICDP) चावल: मणिपुर

• योजना का नाम : एकीकृत अनाज विकास कार्यक्रम (ICDP) - चावल
• प्रायोजक : केन्द्र सरकार
• वित्तपोषण का पैटर्न : 100% केंद्रीय प्रायोजन
• विवरण : ICDP – चावल के तहत कवर किए गए कार्यक्रम के मुख्य घटक निम्नानुसार हैं:
i) खेत में प्रदर्शन ii) फार्मर्स फील्ड स्कूल iii) आईपीएम प्रदर्शन iv) बीज वितरण v) किसान प्रशिक्षण vi) स्प्रेयर पीपी उपकरण vii) हाथ के उपकरण viii) खेत के उपकरण फार्म नौ इम्प्लीमेन्ट्स ix) पावर टिलर
• लाभार्थी : व्यक्तिगत, परिवार, समुदाय, महिलाएं, अन्य
• अन्य लाभार्थी : अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग
लाभ
• लाभ के प्रकार : सब्सिडी

File Courtesy: 
http://india.gov.in/citizen/agriculture/viewscheme.php?schemeid=542
Related Terms: FISGovernment Schemes
5
Sep

समन्वित कीट प्रबंधन: मणिपुर

• योजना का नाम : समन्वित कीट प्रबंधन
• प्रायोजक : केन्द्र सरकार
• वित्तपोषण का पैटर्न : केंद्र द्वारा 100% प्रायोजित
• विवरण : इस कार्यक्रम के तहत , रासायनिक कीटनाशकों के स्थान पर जैव कीटनाशकों और जैव एजेंटों के उपयोग पर जोर दिया जाता है। आईपीएम के तहत कवर किए गए कार्यक्रम के प्रमुख घटक हैं: i. फार्मर्स फील्ड स्कूल, ii. जैव कीटनाशक पर सब्सिडी
• लाभार्थी : व्यक्तिगत, परिवार, समुदाय, महिलाएं, अन्य
• अन्य लाभार्थी : अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग
लाभ
• लाभ के प्रकार : सब्सिडी

File Courtesy: 
http://india.gov.in/citizen/agriculture/viewscheme.php?schemeid=549
Related Terms: FISGovernment Schemes
5
Sep

कृषि फार्मों का आधुनिकीकरण: मणिपुर

• योजना का नाम : कृषि फार्मों का आधुनिकीकरण
• प्रायोजक : राज्य सरकार
• वित्तपोषण का पैटर्न : कार्य योजना का परिव्यय राज्यों द्वारा साझा होगा
• मंत्रालय/ विभाग : कृषि विभाग
• विवरण : कृषि फार्मों के आधुनिकीकरण का मतलब है मशीनरी, औज़ार, उपकरण आदि को बेहतर बनाना और विभागीय खेतों में बेहतर प्रौद्योगिकी के विभिन्न परीक्षणों का संचालन करना।
• लाभार्थी : अन्य
• अन्य लाभार्थी : विभाग, किसान
लाभ
• लाभ के प्रकार : सामग्री
• विवरण : किसानों की सभी श्रेणियां
• पात्रता के मानक : लाभार्थियों का चयन जिला कृषि अधिकारी की सिफारिश केमाध्यम से किया जाता है।
योजना की वैधता

File Courtesy: 
http://india.gov.in/citizen/agriculture/viewscheme.php?schemeid=703
Related Terms: FISGovernment Schemes
5
Sep

कीट निगरानी और प्रबंधन: मणिपुर

• योजना का नाम : कीट निगरानी और प्रबंधन
• प्रायोजक : राज्य सरकार
• वित्तपोषण का पैटर्न : कार्य योजना का परिव्यय राज्यों द्वारा साझा होगा
• मंत्रालय/ विभाग : कृषि विभाग
• विवरण : कीट निगरानी और प्रबंधन का लक्ष्य है दस्ते केबुनियादी ढांचे को मजबूत बनाना और कीट तथा रोग सर्वेक्षण का उचित आयोजन करना ऐर उस घटना का पूर्वानुमान करना जब यह न्यूनतम इच्छित आर्थि स्तर से ऊपर चला जाता है तथा फलस्वरूप पूरे राज्य में उत्पादन में वृद्धि होती है।
• लाभार्थी : समुदाय, अन्य
• अन्य लाभार्थी : किसान

लाभ
• लाभ के प्रकार : सामग्री

File Courtesy: 
http://india.gov.in/citizen/agriculture/viewscheme.php?schemeid=705
Related Terms: FISGovernment Schemes
5
Sep

एकाधिक फसल को लोकप्रिय बनाना: मणिपुर

• योजना का नाम : एकाधिक फसल को लोकप्रिय बनाना

• प्रायोजक : राज्य सरकार

• वित्तपोषण का पैटर्न : कार्य योजना का परिव्यय राज्य सरकार द्वारा साझा होगा

• मंत्रालय/ विभाग : कृषि विभाग

File Courtesy: 
http://india.gov.in/citizen/agriculture/viewscheme.php?schemeid=715
Related Terms: FISGovernment Schemes
5
Sep

पीपी रसायन एवं ग्रामीण एवं शहरी खाद की खरीद व वितरण: मणिपुर

• योजना का नाम : पीपी रसायन एवं ग्रामीण एवं शहरी खाद की खरीद व वितरण
• प्रायोजक : राज्य सरकार
• वित्तपोषण का पैटर्न : कार्य योजना का परिव्यय राज्यों द्वारा साझा होगा
• मंत्रालय/ विभाग : कृषि विभाग
• विवरण : पीपी रसायन ग्रामीण व शहरी खाद की खरीद व वितरण, किसानों की बढती मांग को पूरा करने और मिट्टी की उत्पादकता में वृद्धि के लिए कार्बनिक खाद और हरी खाद मिलाकर उर्वरता के स्तर में वृद्धि करना।
• लाभार्थी : व्यक्तिगत, समुदाय

• लाभ के प्रकार : सामग्री, सब्सिडी
• पात्रता के मानक : किसानों की सभी श्रेणियां

File Courtesy: 
http://india.gov.in/citizen/agriculture/viewscheme.php?schemeid=704
Related Terms: FISGovernment Schemes
5
Sep

बीज की खरीद और वितरण: मणिपुर

• योजना का नाम : बीज की खरीद और वितरण
• प्रायोजक : राज्य सरकार
• वित्तपोषण का पैटर्न : कार्य योजना का परिव्यय राज्य सरकार द्वारा साझा होगा
• मंत्रालय/ विभाग : कृषि विभाग
• विवरण : बीज खरीद और वितरण योजना मुख्य रूप से राज्य के किसानों द्वाराविभिन्न उन्नत किस्म के बीज की मांग में वृद्धि को पूरा करने के उद्देश्य से है। राज्य कृषि विभाग, मणिपुर की खरीद और वितरण योजना के तहत. व्यक्तिगत किसानों को उच्च उपज किस्म के विभिन्न बीज वितरित किए जाएंगे।
• लाभार्थी : व्यक्तिगत, समुदाय, अन्य
• अन्य लाभार्थी : किसान
लाभ
• लाभ के प्रकार : सामग्री, सब्सिडी

File Courtesy: 
http://india.gov.in/citizen/agriculture/viewscheme.php?schemeid=702
Related Terms: FISGovernment Schemes
5
Sep

हरी खाद की फसलों को बढावा: मणिपुर

• योजना का नाम : हरी खाद की फसलों को बढावा
• प्रायोजक : केन्द्रीय सरकार
• वित्तपोषण का पैटर्न : केन्द्र द्वारा 100% प्रायोजित
• विवरण : इस कार्यक्रम के तहत, हरी खाद की फसलों के उपयोग के माध्यम से रासायनिक उर्वरक के उपयोग को कम करने पर जोर दिया जाता है। हरी खाद की फसलों को बढ़ावा देने के अंतर्गत कार्यक्रम के प्रमुख घटक निम्नलिखित हैं: i. फील्ड प्रदर्शन ii. जागरूकता कार्यक्रम
• लाभार्थी : व्यक्तिगत, परिवार, समुदाय, महिलाएं, अन्य
• अन्य लाभार्थी : अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग

• लाभ के प्रकार : सब्सिडी

File Courtesy: 
http://india.gov.in/citizen/agriculture/viewscheme.php?schemeid=551
Related Terms: FISGovernment Schemes
5
Sep

जलभराव की भूमि का पुनरुद्धार: मणिपुर

• योजना का नाम : जलभराव की भूमि का पुनरुद्धार
• प्रायोजक : केन्द्र सरकार
• वित्तपोषण का पैटर्न : केन्द्र द्वारा 100% प्रायोजित
• विवरण : इस कार्यक्रम के तहत, कृषि क्षेत्र के क्षैतिज विस्तार पर जोर दिया जाता है। इस कार्यक्रम के तहत लाए गए कार्यक्रम के प्रमुख घटक हैं: जल निकासी व्यवस्था के पूर्ण संजाल के प्रावधान के साथ जलभराव वाली मिट्टी का पुनरुद्धार, सिंचाई चैनलों की गाद निकालना, रु.10,000 प्रति हेक्टेयर की दर से घेरदार मेडों का निर्माण।
• लाभार्थी : व्यक्तिगत, परिवार, समुदाय, महिलाएं, अन्य
• अन्य लाभार्थी : अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग

File Courtesy: 
http://india.gov.in/citizen/agriculture/viewscheme.php?schemeid=550
Related Terms: FISGovernment Schemes
5
Sep

जैविक प्रमाणीकरण

• नाम : जैविक प्रमाणीकरण
• प्रदत्त लाभ : जैविक प्रमाणीकरण जैविक उत्पादन नॉर्म्स/ आइएसओ 65 पर राष्ट्रीय कार्यक्रम के अनुसार किया जाता है। जैविक प्रमाणीकरण में शामिल है:
1) आवेदन की प्राप्ति व छंटनी
2) मौके पर निरीक्षण
3) कटाई के बाद के चरणों में पर्यवेक्षण
4) बीज के नमूने लेकर विश्लेषण
5) प्रमाणपत्र प्रदान करना

Related Terms: FISGovernment Schemes
5
Sep

जैविक प्रमाणीकरण

• नाम : बीज उत्पादन/ बीज प्रमाणीकरण/ बीज गुणवत्ता नियंत्रण/ प्रशिक्षण
• प्रदत्त लाभ : प्रमाणित बीजोत्पादन तकनीकों व बीज गुणवत्ता नियंत्रण कानून पर प्रशिक्षण निम्नानुसार आयोजित किए जाते हैं:
1) सरकारी बीज उत्पादकों को प्रशिक्षण
2) निजी बीज उत्पादकों को प्रशिक्षण
3) बीज डीलरों को प्रशिक्षण
• पात्रता: बीजोत्पादन तकनीकों/ बीज गुणवत्ता नियंत्रण पर प्रशिक्षण प्राप्त करने का इच्छुक कोई भी व्यक्ति प्रशिक्षण में भाग ले सकता है। कोई शुल्क चुकाने की आवश्यकता नहीं है।
• सम्पर्क किए जाने वाले अधिकारी : बीज प्रमाणीकरण के सम्बद्ध सहायक निदेशक/ बीज निरीक्षण के सम्बद्ध उप निदेशक

Related Terms: FISGovernment Schemes
Syndicate content
Copy rights | Disclaimer | RKMP Policies